मर्द कौन?’

Home / Gallery / मर्द कौन?’

मर्द कौन?’

ग़लतफ़हमी है तुझे की तू ,
इंसान की औलाद  है |
मर्दानगी जब तेरी प्रदर्शन चाहे ,
समझ तू जानवर की प्रजात है |draupadi chir haranगद्दारी है उस लड़की से जो ,
सपने संजोये बैठी है |
पति मिलेगा ऐसा मुझको ,
रामचंद्र की है छाप जो |stop vilence against womanवो क्या जाने राम नहीं तू ,
रावण के वंसज की कड़ी है |
बहन – बेटी में भेद न समझे ,
सबको समझे अपनी लुगाई है |
stop vilence against womenकिसका भाई , किसका बेटा ,
किसका पति है भेद न माने |
हर रिश्ते को तार तार कर ,
मर्द की कर रहा जग -हंसाई है |
#metoo campaignमर्द वही जिसने कृष्ण की भांति ,
द्रौपदी की लाज बचायी है  |
नोचे , काटे, झप्पटा मारे ,
मर्द नहीं , गिद्ध की पहचान है |
#metoo campaignsनज़र बदलो , नजरिया बदलेगा –
हर लड़की में बहन दिखेगी |
गर्व से  सीना फूल उठेगा ,
लाज बचाने जब आँखें उठेंगी |
#metoo campaignराम के वंस में जन्म हुआ है ,
रावण न बन मेरे भाई |
तुमको भी सीता तभी मिलेगी,
जब रावण  से वो बच पायेगी |

Based on true current Incicidents (#metoo) Written by  Mrs. Manisha Upadhyay.

manisha upadhyay

Moral- “The true character of a man is not defined by what he does in front of a crowd but instead by what he does when no one else is aroud”.  A real always respects women. Women are most beautiful creatures created by God on Earth. 

Please follow and like us:
Facebook
Google+
Twitter
YouTube
Pinterest
LinkedIn
Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat